समाचार

एक ऐसा गांव जँहा हर इंसान केवल 1 जनवरी को पैदा होता हैं।

    उत्तराखंड के इस गांव के सभी 800 लोग 1 जनवरी को पैदा हुएउत्तराखंड के इस गांव के सभी 800 लोग 1 जनवरी को पैदा हुए

Interesting facts :

उत्तराखंड में एक गांव ऐसा भी है जहां हर आदमी की जन्मतिथि की तारीख 1 जनवरी ही है.

भारत में भी बहुत सारी अजीबोगरीब घटना होती रहती हैं। कभी कभी हमे खुद ही विश्वास नहीं होता हैं की यह घटना हमारे आस पास की हैं।ऐसी ही कुछ घटना  उत्तराखंड के गैंडी खाटा गांव में यह मामला सामने आया है।

इस गांव के 800 परिवारों लोगों के आधार कार्ड में उनकी जन्मतिथि 1  जनवरी  ही लिख कर आ गयी इसका मुख्य कारण यह था की सबकी जन्मतिथि एक ही लिख कर आ गयी।

जब गांव वालों से इसके बारे में पूछा गया तब उन्होंने बताया पहचान के लिए अपने वोटर आईडी कार्ड और राशन कार्ड एक प्राइवेट एजेंसी को दिए थे, जिसे आधार कार्ड बनवाने का काम सौंपा गया था. आधार कार्ड एक तरह से भारत के नागरिकता को दर्शाता हैं। लेकिन इतनी बड़ी गलतियां होने के बावज़ूद भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) ने इस गलती कि ज़िम्मेदारी लेने से साफ़ इंकार कर दिया है.

गौरतलब हो कि आधार कार्ड को मौजूदा सरकार ने हर चीज के लिए अनिवार्य कर दिया है। वर्तमान समय में किसी भी व्यक्ति के लिए आधार कार्ड सबसे अहम दस्तावेज है लेकिन इसके बावजूद इस तरह इतनी तकनिकी गलती सामने आ रही हैं। । इस गड़बड़ के बारे में हरिद्वार के एसडीएम मनीष कुमार ने कहा है कि मीडिया रिपोर्ट के जरिए यह मामला हमारे नोटिस में आया है। मामले की जांच करेंगे और जिन्होंने भी यह गड़बड़ की है, उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

कुछ ऐसा ही इलाहाबाद के कंजासा  गांव में देखने को मिला जहा 1000 लोगो के आधार कार्ड में जन्मतिथि 1 जनवरी लिखी हुई थी. इस गांव की कुल आबादी लगभग 5000 के आस पास हैं। जहाँ पर 1000 लोगो का जन्मतिथि 1 जनवरी हो गया हैं,तकनिकी गलती के कारण।

ऐसी घटना देखकर लगता है कि यह एक संयोग होगा या चमतकार लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं हैं यह सब तकनिकी गलती(Technical Fault) के कारण हुआ हैं।  फॉर्म भरने वाले इंसान के गलत इनपुट देने से गलत रिकार्ड्स बन गया।

गांव के प्रधान मोहम्मद इमरान ने कहा है कि ये आधार कार्ड बनवाने वाली एजेंसी कि गलती के कारण हुआ है. गांव वालों को डर था कि आधार कार्ड न होने के कारण वो कई  सरकारी  स्कीमों का लाभ उठाने से वंचित रह जायेंगे.

 

 

 

One Reply to “एक ऐसा गांव जँहा हर इंसान केवल 1 जनवरी को पैदा होता हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *